back to homepage

दिल्ली एनसीआर

लेबर कोर्ट में चढ़ावे के हिसाब से इंस्पेक्टरों को मिलती है जिम्मेदारी

फरीदाबाद (म.मो.) स्टॉफ के अभाव में फरीदाबाद का लेबर कोर्ट मजदूरों को इंसाफ दिलाने की कोशिश में जुटा तो है लेकिन उसे नाकामी ज्यादा मिल रही है। श्रम न्यायालय फरीदाबाद

Read More

आईपीएस अधिकारी ने सीधा सा जवाब दिया कि जब राजा को जनता के हितो से सरोकार नहीं होता तो इसी तरह के हुकुमनामे जारी होते हैं

  मेट्रो तो चलेगी लेकिन जनता की परेशानियां बढ़ाते हुए फरीदाबाद (म.मो.) 24 मार्च से बंद हुई मेट्रो रेल सेवा को जनता के सिर पर बहुत बड़ा अहसान लादते हुए

Read More

गौरक्षक बने एक लुटेरा गिरोह ने बीते शुक्रवार लुकमान नामक एक मीट व्यापारी का पीछा कर, उसका अपहरण किया और बहुत बेरहमी से पीटा। पुलिस ने उन्हें रोकना चाहा तो खुद भी पिटी।

रंगदारी के लिए मीट व्यापारी पर जानलेवा हमला, गौ गुंडे पुलिस से भी बेखौफ भिड़े गुडग़ांव (म.मो.) संघ एवं भाजपा से प्राप्त दीक्षा एवं प्रेरणा पाकर गौरक्षक बने एक लुटेरा

Read More

नशे का व्यापारी भोंडसी जेल का डिप्टी जेलर आखिर हुआ गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच वाले निकले तो थे खरगोश पकडऩे, पकड़ा गया शेर मज़दूर मोर्चा ब्यूरो गुडग़ांव पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कभी ख्वाबों-ख्यालों में भी नहीं सोचा था कि वे भोंडसी

Read More

कानून सबके लिये बराबर है, यही दुनिया का सबसे बड़ा झूठ है, बल्कि यह तो मकड़ी का वो जाला है जिसमे कीड़े मकौड़े तो फंस जाते हैं पर बड़े जानवर इसे तोड़ कर बाहर हो जाते हैं…

पैसा है तो पसंदीदा धारा लगवाइये … पलवल पुलिस से ग्राउंड जीरो से विवेक कुमार  देश के प्रधानमन्त्री ने जनता से कहा आत्मनिर्भर बनो, हालाँकि उनके ऐसा कहने से पहले

Read More

निगमायुक्त से मुलाकात दिखा कर कब तक बहकायेंगी विधायक त्रिखा फरीदाबाद (म.मो.) बडख़ल विधानसभा क्षेत्र में पडऩे वाले गली-मुहल्लों में उफनते सीवर, टूटी सडक़ों व पेयजल की आपूर्ति को लेकर

Read More

चार रोज पहले ही वह भौंचक्के रह गए जब देखा कि कंपनी ने उनके बैंक खाते में मात्र 30 हजार रुपया ही बतौर वेतन जमा किया है जबकि वेतन डेढ़ लाख रुपये है।

वर्क फ्रॉम होम से वर्क ऑफ होम तक विवेक कुमार, ग्राउंड रिपोर्ट भाई मजा आ रहा है न? “वर्क फ्रॉम होम” से सीधा “वर्क ऑफ होम” हो गया? ललित ने

Read More

वैन जो बतौर एम्बुलेन्स आई उसमे पहले से ही चार लोग बैठे थे जिसमे एक टीबी का मरीज था और वो भी तब जब कोरोना फ़ैला है? ड्राईवर ने कहा एम्बुलेंस मिल गई ये कोई कम है?

अस्पताल बस कोरोना मरीज ही देखेंगे;  बीमारी कोई भी हो मरना पड़ेगा कोरोना के नाम से ही… ग्राउंड जीरो से विवेक कुमार की रिपोर्ट   कोरोना काल में क्या अन्य

Read More