back to homepage

विश्लेषण

इसे कहते हैं गुप्त दान,  20 लाख करोड़ दे भी दिये और लेने वालों को पता भी नहीं चला।

न्यूजीलैण्ड में हफ्ते में सिर्फ चार दिन काम  न्यूजीलैण्ड की प्रधानमंत्री जेसीन्दा आर्डेरन ने कहा है कि हम लॉकडाउन से बाहर आने के बाद देश के आर्थिक हालात  को सुधारने

Read More

बड़ी हैरानी की बात है कि कोरोना के इस पूरे दौर में इस संस्था का कोई जिक्र नहीं, न कोई बयान आया न इसने कोई बीमारी के आंकड़े पेश किये।

कोरोना के नाम पर हुआ लॉकडाउन  राजनीति करने के लिए हुआ है| अजातशत्रु जब से कोरोना बीमारी के विरुद्ध 25 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन हुआ है तब से

Read More

बैंकों को फिर बैड लोन की चिंता, मोदी सरकार की घोषणाओं से डरे तीन लाख करोड़ रुपये से छोटे और मझोले उद्योगों के खड़े हो पाने में शक, घपलों की आशंका से भी इनकार नहीं

  मजदूर मोर्चा ब्यूरो नई दिल्ली: लघु और मझोले उद्योगों (एमएसएमई) के लिए केंद्र सरकार की घोषणाएं बैंकों को पसंद नहीं आई हैं और खासकर प्राइवेट सेक्टर बैंकों से लघु

Read More

पांडा की तरह सोती सरकार देश के गरीबों कोमार कर ही जागेगी…

पीएम केयर्स फंड…इस हाथ ले और उस हाथ दे देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो चुकी है, कंपनियां अपने कर्मचारियों का हक मारकर पैसे लुटा रही हैं मजदूर मोर्चा ब्यूरो नई

Read More

जब आप सबसे अंतिम और आसान विकल्प को सबसे पहले चुनते हैं तो आप अपनी बुद्धि व नेतृत्व क्षमता का परिचय पहले स्ट्रोक में ही दे देते हैं। जरूरी नहीं कि जिस बात पर आपको हंसी आती है वह सच में चुटकुला ही है

लॉकडाउन बढ़ा : देश का मिजाज बिगड़ा दिल्ली के राजा को दिल की बीमारी और प्रजा में छाई भूख की लाचारी ग्राउंड जीरो से विवेक कुमार की रिपोर्ट बिस्कुट के

Read More

क्या सच में चार सेना कमाण्डर मात्र फूल बरसाने या ढोल बजाने का प्रोग्राम बनाने के लिए इकट्ठे हुए थे?

क्या फौज इसी काम के लिए रह गयी है विवेक कुमार भारत में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (विपिन रावत) का पद बनाये जाने के बाद से 1 मई 2020 को

Read More

स्वयंसेवी संस्थाओं ने हाथ खड़े कर दिये हैं कि वो अब और मुफ्त राशन नहीं बांट सकते। क्या इसीलिए ट्रेन चलायी है?

कोरोना युद्ध मोदी के काइयांपन और स्वार्थ के चलते  फेल हुआ लॉकडाउन फिर भी दो हफ्ते और घसीटने का फरमान जारी मजदूर मोर्चा ब्यूरो हर घटना, दुर्घटना को अपने राजनीतिक

Read More

विधायक, घर से दफ्तर तक के चक्कर कटवाता है पर मना नहीं करता कि खाना नहीं दूंगा, खाना मिलता भी नहीं।

मोदी जी भी बोले तो बहुत, पर कहा कुछ नहीं! ग्राउंड जीरो से विवेक कुमार की रिपोर्ट   कोरोना का असर भारत में अपने पैर तेजी से पसार रहा है,

Read More

“क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि आपके परिवार का सबसे कमजोर बच्चा भूख से मर रहा हो और वह भी तब जब घर में खाद्यान के भंडार भरे पड़े हों” ज्यांद्रेज़

लॉकडाउन इंडिया प्रशासन में भरोसा नहीं; क्या कोरोना को हरा सकेगा भारत? विवेक कुमार की ग्राउंड जीरो रिपोर्ट (कोरोना भारत यात्रा के पिछले भाग में हमने राजनीति को केंद्र में

Read More

कर्मचारियों को अलग-अलग समय देते हुए दफ्तर बुलाया और उनसे इस्तीफा देने को कहा। हर कर्मचारी से कहा गया कि अगर उन्हें वेतन चाहिए तो इस्तीफा देना होगा

    क्या करेगा मोदी, क्या करेगा खट्टर चली गई 800 लोगों की नौकरी…और अभी ये शुरुआत है फेयरपोर्टल नामक अमेरिकी कंपनी ने गुडग़ांव और पुणे में कर्मचारियों को निकाला

Read More